धर्म

इन देवी देवताओं को 56 प्रकार के व्यंजन नहीं ये भोग है पसंद, जानें

यूं तो हर किसी को ईश्वर की प्राप्ति के लिए एक कठोर परीक्षा करनी होती है। ऐस में हर कोई अपनी भक्ति से भगवान को प्रसन्न करने के अलग तरीके अपनाता है।

यूं तो हर किसी को ईश्वर की प्राप्ति के लिए एक कठोर परीक्षा करनी होती है। ऐस में हर कोई अपनी भक्ति से भगवान को प्रसन्न करने के अलग अलग तरीके अपनाता है। कोई भगवन को 56 भोग लगाकर प्रसन्न करने की कोशिश करता है। या कोई उनकी भक्ति में लीन होकर व्रत रखकर उन्हें पाने की कोशिश करता हैं।

लेकिन क्या आप जानते है कि देवी देवता 56 भोगों से नहीं बल्कि अपने पसंददीदा व्यंजन से अधिक प्रसन्न होते है। हिन्दू धर्म पुराण में हर भगवान के मन पसंद भोग के बारे में बताया गया है। आज जानते है कि किस देवी देवता को कौन सा भोग अर्पण करना बेहतर है।

गणपति बप्पा

sweets

गणेश जी को मोदक लड्डू बहुत प्रिय है। उन्हें मोती चूर के लड्डू व बेसन के लड्डू भी चढ़ाये जाते हैं।

 

भोले भंडारी शिवजी

panchamrit

शिवजी को पंचामृत अमृत बहुत पसंद है। यह दूध, दही, घी, शक्‍कर, शहद से मिलकर बनता है।

 

भगवान विष्णु

khir

भगवान विष्णु यानि श्री हरी को खीर या सूजी के हलवे का भोग बहुत पसंद है। उनके भोग को प्रसाद के रूप में बांटते हुए उसमे तुलसी का पत्ता मिलाकर देने से भगवान विष्णु अधिक प्रसन्न होते है।

 

माँ दुर्गा

nariyal ke ladoo

माँ दुर्गा को शक्ति का प्रतिक माना जाता है। उनकी पूजा में भोग के तोर पर सफ़ेद मिठाया चढ़ाना बहुत अच्छा माना जाता है। दूध से बने व्यंजन से उनका मन अधिक प्रसन्न होता है।

 

Tax Partner

 

देवी सरस्वती

WHITE TIL K LADOO

देवी सरस्वती जिन्हे ज्ञान की देवी माना जाता हैं। उन्हें भोग में सफ़ेद चीज़े चढ़ाना बहेतर माना जाता है। जैसे- पंचामृत, दूध-दही, मक्खन, सफेद तिल के लड्डू।

 

हनुमान जी

MOTICHUR K LADOO

हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए उन्हें चोला चढ़ाना अच्छा माना जाता है। इसके अलावा भोग में उन्हें मोती चूर के लड्डू व बेसन के लड्डू बहुत प्रिय है। उन्‍हें हलवा, पंच मेवा, गुड़ से बने लड्डू, मीठा पान चढ़ाने से वे जल्‍दी प्रसन्‍न होते हैं।

 

ये भी पढ़े: Aaj Ka Rashifal: जानें किन राशियों के लिए शुभ है 16 सितम्बर का दिन

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button