धर्म

आज का हिन्दू पंचांग 29 दिसम्बर: आज करें भगवान विष्णु की पूजा, जानें शुभ समय

आज का हिन्दू पंचांग 29 दिसम्बर: राहुकाल और शुभमुहूर्त के साथ जानें कैसे लगेगा कार्यस्थल पर मन और उन्नतिकारक कुंजियाँ

दिनांक – 29 दिसम्बर 2022

दिन – गुरुवार

विक्रम संवत् – 2079

शक संवत् – 1944

अयन – दक्षिणायन

ऋतु – शिशिर

मास – पौष

पक्ष – शुक्

तिथि – सप्तमी शाम 07:17 तक तत्पश्चात अष्टमी

नक्षत्र – पूर्वभाद्रपद सुबह 11:44 तक तत्पश्चात उत्तरभाद्रपद

योग – व्यतिपात सुबह 11:46 तक तत्पश्चात वरियान

राहु काल – दोपहर 02:02 से 03:23 तक

सूर्योदय – 07:20

सूर्यास्त – 06:04

दिशा शूल – दक्षिण दिशा में

ब्राह्ममुहूर्त – प्रातः 05:33 से 06:27 तक

निशिता मुहूर्त – रात्रि 12:15 से 01:08 तक

व्रत पर्व विवरण – गुरु गोविंद सिंहजी जयंती*

विशेष – सप्तमी को ताड़ का फल खाया जाय तो वह रोग बढ़ानेवाला तथा शरीर का नाशक होता है । (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

 गुरुवार विशेष प्रयोग

गुरुवार के दिन देवगुरु बृहस्पति के प्रतीक आम के पेड़ की निम्न प्रकार से पूजा करें :*

एक लोटा जल लेकर उसमें चने की दाल, गुड़, कुमकुम, हल्दी व चावल डालकर निम्नलिखित मंत्र बोलते हुए आम के पेड़ की जड़ में चढ़ाएं ।

ॐ ऐं क्लीं बृहस्पतये नमः ।

फिर उपरोक्त मंत्र बोलते हुए आम के वृक्ष की पांच परिक्रमा करें और गुरुभक्ति , गुरुप्रीति बढ़े ऐसी प्रार्थना करें । थोड़ा सा गुड़ या बेसन की मिठाई चींटियों को डाल दें ।

ओजवान तेजवान बनने का प्रयोग

जितने तुलसी के बीज हों उनसे दुगना गुड़ ले लो । मान लो 100 ग्राम तुलसी के बीज हैं तो 200 ग्राम गुड़ ले लो । तुलसी के बीजों को मिक्सी में पीस लो और फिर उस चूर्ण में गुड़ की चाशनी मिलाकर 1-1 ग्राम की गोलियाँ बना लो । बड़े लोग 2 गोली और छोटे बच्चे 1 गोली खाली पेट चूसें । यह गोली सुबह शाम लेने वाले विद्यार्थी की यादशक्ति तो बढ़ेगी, साथ ही साथ वह वीर्यवान, ओजवान, तेजवान एवं बुद्धिमान बनेगा । डरपोक में भी बल आ जायेगा । इसके प्रयोग से कई बीमारियाँ भाग जाती हैं, जैसे स्वप्नदोष, कमजोरी, चमड़ी के रोग, पेट की खराबियाँ, पेट के कृमि, गैस, एसिडिटी, घुटनों का दर्द, ट्यूमर, कैंसर आदि इससे बहुत फायदा होता है ।

शास्त्रों में तो यहाँ तक लिखा है कि ये गोलियाँ यदि कोई नपुंसकता से ग्रस्त व्यक्ति भी खाये तो उसमें भी मर्दानगी आ जायेगी, तो पुरुषों और महिलाओं की तो बात ही क्या ! तुलसी के बीज सभी के लिए लाभप्रद हैं । गर्मियों में यह प्रयोग बंद कर देना या कम कर देना । ये गोलियाँ पानी से भी ले सकते हैं ।

आर्थिक परेशानी दूर करने हेतु

भोजन से पूर्व गीता के १५वें अध्याय का पाठ करें तथा दक्षिण की तरफ सिर करके सोयें, इससे आर्थिक परेशानी दूर होगी ।*

ऋषि प्रसाद – अप्रैल २०१८ से

प्रसव-पीड़ा घटाने और हृष्ट-पुष्ट व गोरे संतान पाने हेतु

गर्भिणी रोज प्रात:काल २५-२५ ग्राम नारियल और मिश्री चबा के खाये तो प्रसव में दर्द कम होता है व गर्भस्थ शिशु हृष्ट-पुष्ट और गोरा होता है ।

[ अष्टमी को नारियल खाना वर्जित हैं ।]

Accherishtey
यह भी पढ़ें:  पुरानी गाड़ी वालों की बल्ले-बल्ले, इस तरह फिर चला सकेंगे अपना वाहन

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button