धर्म

आज का हिन्दू पंचांग 30 मार्च: मासिक शिवरात्रि, आज के मुहूर्त और शुभ योग जानें

आज का हिन्दू पंचांग 30 मार्च: राहुकाल और शुभमुहूर्त के साथ जानें कैसे लगेगा कार्यस्थल पर मन और उन्नतिकारक कुंजियाँ

दिनांक – 30 मार्च 2022

दिन – बुधवार

विक्रम संवत – 2078

शक संवत – 1943

अयन – उत्तरायण

ऋतु – वसंत

मास – चैत्र

पक्ष – कृष्ण

तिथि – त्रयोदशी दोपहर 01:19 तक तपश्चात चतुर्दशी

नक्षत्र – शतभिषा, सुबह 10:49 तक तपश्चात पूर्व भाद्रपद

योग – शुभ ,दोपहर 01:02 तक तत्पश्चात शुक्ल

 राहुकाल – दोपहर 12:44 से 02:17 तक

सूर्योदय – 06:34

सूर्यास्त – 06:54

दिशाशूल – उत्तर दिशा में

विजय मुहूर्त – अपरान्ह 2:48 से 3:37 तक

गोधूलि मुहूर्त – शाम 6:42 से 7:06 तक

सायह्न सन्ध्या – शाम 6:54 से रात्रि 8:04 तक

ब्रह्म मुहूर्त– सुबह 05:01 से 05:48 तक

निशिता मुहूर्त – रात्रि 12.20 से 01:07 तक

चतुर्दशी को तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

व्रत पर्व विवरण – वारूणी योग, मासिक शिवरात्रि

वारुणी योग

30 मार्च वारुणी योग (सूर्योदय से सुबह 10-48 तक) वारुणी योग के दिन गंगादि तीर्थ में स्नान,दान, उपवास 100 सूर्यग्रहणों के समान फलदायी है ।

कर्जा से मुक्ति हेतु

हर मासिक शिवरात्रि को सूर्यास्त के समय घर में बैठकर अपने गुरुदेव का स्मरण करके शिवजी का स्मरण करते-करते ये 17 मंत्र बोलें, जिनके सिर पर कर्जा ज्यादा हो, वो शिवजी के मंदिर में जाकर दिया जलाकर ये 17 मंत्र बोले । इससे कर्जा से मुक्ति मिलेगी…

1). ॐ नमः शिवाय नमः
2). ॐ सर्वात्मने नमः
3). ॐ त्रिनेत्राय नमः
4). ॐ हराय नमः
5). ॐ इर्न्द्मखाय नमः
6). ॐ श्रीकंठाय नमः
7). ॐ सद्योजाताय नमः
8). ॐ वामदेवाय नमः
9). ॐ अघोरर्ह्द्याय नमः
10). ॐ तत्पुरुषाय नमः
11). ॐ ईशानाय नमः
12). ॐ अनंतधर्माय नमः
13). ॐ ज्ञानभूताय नमः
14). ॐ अनंतवैराग्यसिंघाय नमः
15). ॐ प्रधानाय नमः
16). ॐ व्योमात्मने नमः
17). ॐ युक्तकेशात्मरुपाय नमः
-श्री सुरेशानंन्दजी

Hair Crown

 

यह भी पढ़े: New Year 2022: नए साल से पहले रखें अपने पर्स में ये ख़ास चीज, नहीं होगी पैसों की कमी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button