टेक

एक अप्रैल से 4 व्हीलर का रेजिस्ट्रेशन होगा आठ गुना महंगा, जानें कितनी देनी होगी फीस

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा जारी किये गए एक आदेश के अनुसार एक अप्रैल से शुरू होने वाली 15 साल से अधिक पुराने वाहनों की री रेजिस्ट्रेशन की लागत वर्त्तमान दर से आठ गुना अधिक होगी

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा जारी किये गए एक आदेश के अनुसार एक अप्रैल से शुरू होने वाली 15 साल से अधिक पुराने वाहनों की री रेजिस्ट्रेशन की लागत वर्त्तमान दर से आठ गुना अधिक होगी आपको बता दें कि यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र को छोड़कर पूरे देश में लागु होगा।

जानकारी के मुताबिक 1 अप्रैल से सभी 15 साल पुरानी कारों के रेजिस्ट्रेशन के लिए 5,000 रुपए का भुगतान करना होगा जबकि 600 का है और 2 पहिया वाहन के लिए 300 के बजाये 1,000 का भुगतान करना होगा। इसी के साथ इंपोर्टिड कारों के लिए 15,000 के बजाये 40,000 का भुगतान करना होगा।

अगर कोइ वाहन मालिक रेजिस्ट्रेशन करवाने में देरी करता है तो उसे 300 रुपए महीने का जुरमाना भरना होगा और कमर्शियल वाहनों के लिए 500 रुपए प्रति माह का जुरमाना होगा। मंत्रालय द्वारा दिए गए नियम में कहा गया है कि 15 साल पुराने वाहनों को हर 5 साल में रिन्यूअल के लिए आवेदन करना होगा।

पुराने वाहनों पर फिटनेस टेस्ट की लागत भी अप्रैल से बढ़ने वाली है और टैक्सियों से अब 1,000 की बजाये 7,000 रुपए शुल्क लिया जायेगा इसके अलावा बसों और ट्रकों से 1,500 के बजाये 12,500 रुपए का शुल्क लिया जायेगा।

सरकार का यह कदम इस उम्मीद पर आधारित है कि देश में मालिक अपने पुराने वाहनों को स्क्रैप करना और आधुनिक, नए खरीदना पसंद करेंगे जो कम प्रदूषण वाले हों क्योंकि वायु प्रदूषण यहां एक गंभीर समस्या है।

Aadhya technology

ये भी पढ़े: परोल जंप करके मर्डर करने वाला आरोपी गिरफ्तार

Jagjeet Singh

जगजीत सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने टेक्निकल, विश्व और एजुकेशन से सम्बंधित लेखो को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button