टेक

क्‍या लौट रहा है फीचर फोन का दौर? आखिर क्‍यों स्‍मार्टफोन से हो रहा लोगों का मोहभंग?

पिछले कुछ वर्षों में, स्मार्टफोन ने हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बनकर एक तरह से हम पर हुकूमत की है। लेकिन अब, एक नई प्रवृत्ति सामने

पिछले कुछ वर्षों में, स्मार्टफोन ने हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बनकर एक तरह से हम पर हुकूमत की है। लेकिन अब, एक नई प्रवृत्ति सामने आ रही है – फीचर फोन की वापसी। यह सवाल उठता है कि आखिर क्यों लोग फिर से फीचर फोन की ओर आकर्षित हो रहे हैं और स्मार्टफोन से मोहभंग हो रहा है?

पहला कारण है डिजिटल डिटॉक्स की चाह। स्मार्टफोन की अत्यधिक उपयोग से लोगों को मानसिक थकान और तनाव का सामना करना पड़ रहा है। हर समय नोटिफिकेशन्स, सोशल मीडिया और ऐप्स की भरमार ने मानसिक शांति को प्रभावित किया है। ऐसे में, फीचर फोन, जो केवल बेसिक कॉलिंग और टेक्स्टिंग सुविधाएं प्रदान करते हैं, एक तरह से डिजिटल डिटॉक्स का माध्यम बन रहे हैं।

दूसरा प्रमुख कारण है बैटरी लाइफ। स्मार्टफोन की बैटरी जल्दी खत्म हो जाती है और बार-बार चार्ज करने की आवश्यकता होती है। इसके विपरीत, फीचर फोन की बैटरी लंबे समय तक चलती है, जिससे उपयोगकर्ताओं को बार-बार चार्जिंग की झंझट से छुटकारा मिलता है। खासकर उन लोगों के लिए जो ज्यादातर यात्रा करते हैं या जिनके पास चार्जिंग की सुविधाएं सीमित होती हैं, फीचर फोन एक बढ़िया विकल्प बन जाते हैं।

तीसरा कारण है सुरक्षा और गोपनीयता। स्मार्टफोन में एप्स और इंटरनेट के व्यापक उपयोग से डेटा चोरी और गोपनीयता की समस्याएं बढ़ी हैं। फीचर फोन में इंटरनेट की सीमित पहुंच और सीमित एप्स की वजह से डेटा चोरी की संभावना कम होती है, जिससे लोग अधिक सुरक्षित महसूस करते हैं।

चौथा कारण है सादगी और सुविधा। स्मार्टफोन की जटिलताएं और उनके लगातार अपडेट्स कभी-कभी उपयोगकर्ताओं को परेशान कर सकते हैं। फीचर फोन का उपयोग करना सरल और सहज होता है, खासकर बुजुर्गों और तकनीक से कम परिचित लोगों के लिए। वे इसे आसानी से समझ सकते हैं और इसका उपयोग कर सकते हैं।

आखिरकार, फीचर फोन की कम कीमत भी एक महत्वपूर्ण कारण है। स्मार्टफोन की बढ़ती कीमतों के मुकाबले, फीचर फोन सस्ते और सुलभ होते हैं। यह आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए एक आदर्श विकल्प बनता है।

इन कारणों से, यह स्पष्ट है कि फीचर फोन की वापसी एक अस्थायी प्रवृत्ति नहीं बल्कि एक स्थायी समाधान की दिशा में कदम है। लोग अपने मानसिक शांति, सुरक्षा और सादगी की खोज में स्मार्टफोन से दूर हो रहे हैं और फीचर फोन की ओर लौट रहे हैं।

Related Articles

Back to top button