टेक

बिजली के बिल का झंझट हुआ खत्म, अब नहीं भरना पड़ेगा 1 रुपए भी बिल

हमारे जीवन में बिजली का बहुत उपयोग होता है। हम सभी बिजली कई जगह उपयोग में लाते हैं। इसका प्रयोग करके हम अनेक काम कर सकते हैं

हमारे जीवन में बिजली का बहुत उपयोग होता है। हम सभी बिजली कई जगह उपयोग में लाते हैं। इसका प्रयोग करके हम अनेक काम कर सकते हैं। इसी बीच गर्मी के मौसम में बिजली कंपनी उपभोक्ताओं को एक बड़ी सौगात देने जा रही है, जिससे आपको निश्चित ही हमेशा के लिए बिजली से छुटकारा मिल जाएगा।

अक्सर देखा गया है की लोग अपने घरों में बिजली का इस्तेमाल काफी करते है लेकिन जब बिजली का बिल ज्यादा आता है तो लोग काफी परेशान भी हो जाते है आपको बता दें कि अगर आप बिजली कंपनी की इस योजना का लाभ उठाते है तो आपको एक रुपए बिजली का बिल नहीं भरना पड़ेगा।

आपको बता दें कि लोगों ने महंगी होती हुई बिजली के चलते सौर ऊर्जा सयंत्र लगवाया हुआ है। इससे उन्हें बहुत लाभ मिल रहा है। इतना ही नहीं बिजली कम्पनी को बिजली की बिक्री करके अच्छा खासा मुनाफा भी कमा रहे है लोगों ने ऊर्जा सयंत्र लगवाने के लिए किसी ने डेड लाख तो किसी ने दो लाख खर्च किये।

आपको बता दें कि इन लोगों ने खाली एक बार निवेश किया है लेकिन हर बार के भारी भरकम बिजली के बिल से छुटकारा मिल गया है। बहुत से लोगों ने इसकी शुरवात की है इनमे से एक है सीएल सालित्रा जो की शिक्षा विभाग में उच्च पद पर है। यह कस्तूरबा नगर के गली नंबर 6 में रहते है।

बता दें इनका हर महीने बिल 8 से 10 हजार के बिच आ रहा था फिर इन्होने ऊर्जा सयंत्र लगवाया जिससे अब हर महीने 400 यूनिट बिजली बना रहे है। इन्होंने कुल 9 पैनल लगवाए हुए है इसमें हर एक पैनल 445 वाट का है और वह हर महीने ऊर्जा विभाग को 75 से 100 यूनिट बिजली देते है और उनको करीब 2 लाख खर्च करने पड़े थे जिससे उनका बिल आना बंद हो गया।

वही दूसरे व्यक्ति अलोक कुमार ने बताया कि उन्होंने 12 पैनल लगवाए है जिससे उन्हें बहुत लाभ मिल रहा है और उनको भारी भरकम बिजली के बिल से छुटकारा मिल गया है।

Vishalgarh Farms

ये भी पढ़े: दिल्ली सरकार ई-रिक्शा खरीदने वालों को दे रही है 25000 की सब्सिडी

Jagjeet Singh

जगजीत सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने टेक्निकल, विश्व और एजुकेशन से सम्बंधित लेखो को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button