टेकदेश

AI का करें सही इस्तेमाल, ना रखें नौकरी खोने का भय: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति मुर्मू नई दिल्ली के विज्ञान भवन में लक्ष्मीपत सिंघानिया आईआईएम लखनऊ राष्ट्रीय लीडरशिप पुरस्कार (IIM Lucknow National Leadership Awards) समारोह को कर रही थीं संबोधित

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने AI के बारे में बताया कि कई लोगों को नौकरी खोने का डर है। लेकिन सही इस्तेमाल करने वाले को कोई चिंता नहीं होनी चाहिए। उन्होंने इसे बचाने के लिए AI के सभी आयामों को प्रबंधन शिक्षा से जोड़ने की बात कही।

 

द्रौपदी मुर्मू ने भारतीय युवाओं की प्रशंसा की, कहा कि यहां तकनीकी ज्ञान के साथ-साथ प्रबंधन कौशल भी हैं। उन्होंने भारत को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ यूनिकॉर्न हब में शामिल होने की भी बात की।

 

राष्ट्रपति ने कहा कि उद्यमिता भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने बताया कि व्यापारिक दौड़ मानवता को नुकसान पहुंचा रहा है, और जलवायु परिवर्तन और पारिस्थितिक गड़बड़ी उसी का परिणाम है।

 

उन्होंने इसे भारतीय संस्कृति में उद्यमिता के लिए एक उदाहरण माना। राष्ट्रपति ने शिक्षा प्रणाली में बदलाव की बात की और भारतीय कंपनियों को शिक्षाविदों और प्रबंधकों से जोड़ने की अपील की।

 

उन्होंने व्यवसायों के लिए केस स्टडीज की बजाय भारतीय कंपनियों पर केस स्टडीज करने की बात कही। सिलक्यारा खोज बचाओ अभियान के बारे में भी उन्होंने चर्चा की, जिससे नेतृत्व और टीम वर्क के महत्व को समझाया।

 

राष्ट्रपति ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के सही इस्तेमाल करने की बात कही और उसे प्रबंधन शिक्षा से जोड़ने की भी पुनरावृत्ति की।

Accherishtey

Related Articles

Back to top button