टेक

Facebook और Instagram पर क्यों नहीं है Whatsapp जैसी चैट सिकयोरीटी? जानें

मेटा (Meta) के सुरक्षा प्रमुख एंटीगोन डेविस के मुताबिक,2023 में फेसबुक मैसेंजर और इंस्टाग्राम को डिफ़ॉल्ट रूप से एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन मिलेगा.

मेटा (Meta) के सुरक्षा प्रमुख एंटीगोन डेविस के मुताबिक,2023 में फेसबुक मैसेंजर और इंस्टाग्राम को डिफ़ॉल्ट रूप से एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन मिलेगा. वैसे तो, कंपनी ने इसी साल अप्रैल में एक ब्लॉग पोस्ट में बताया था कि, इस फीचर की लिमिट 2022 तक है. लेकिन अब इसे 2023 में कर दिया गया है. हालांकि, व्हाट्सएप में डिफ़ॉल्ट एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन फीचर बहुत समय से है. बता दें कि व्हाट्सएप का कंट्रोल भी Meta के पास ही है.

डेविस ने संडे को टेलीग्राफ द्वारा बताया की, हम इसके लिए कुछ वक्त ले रहे है, हमारी सभी मैसेजिंग  सर्विसेज में डिफ़ॉल्ट रूप से एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के वैश्विक रोलआउट को बंद करने का विचार नहीं है.” साथ ही उन्होंने कहा कि, कंपनी “लोगों के निजी संपर्क का ध्यान रखने में और लोगों को ऑनलाइन सुरक्षित रखने के लिए” दृढ़ संकल्पित है.

क्यों हो रही है डिफ़ॉल्ट एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शनमें में देरी:

उन्होंने बताया कि इस निर्णय को लेने में देरी इसलिए हो रही है, क्योंकि कंपनी पूरा यक़ीन करना चाहती है कि, एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन से किसी भी आपराधिक विस्तार को रोकने में कोई रुकावट न आए. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि मेटा यूजर कि सुरक्षा करने के लिए  “हमारे ऐप, अकाउंट डिटेल्स और यूजर्स की रिपोर्ट में गैर-एन्क्रिप्टेड डेटा के संयोजन का प्रयोग करेगी.”

बता दें कि, मेटा मैसेंजर में एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड वॉयस और वीडियो कॉल है. मैसेंजर में एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड चैट का ऑप्शन भी है. हालांकि, इसे अकेले संपर्क के लिए ‘सीक्रेट चैट’ के फ़ार्म में एनेबल करना होता है.

Tax Partner

ये भी पढ़े: Stock Market: Paytm के शेयरों में आई तबाही, निवेशकों के 37 फीसदी तक पैसे डूबे

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button