टेकदेश

क्यों Ola इलेक्ट्रिक स्कूटर बना किसी के Accident की वजह ?

देश में पेट्रोल और डीजल में बढ़ोतरी पर सरकारे ई - वाहनों पर ज्यादा जोर ढाल रही है जिससे लोग अब इलेक्ट्रिक वाहन खरीदे और उसी का इस्तेमाल कर सके

देश में पेट्रोल और डीजल में बढ़ोतरी पर सरकारे इलेक्ट्रिक वाहनों पर ज्यादा जोर ढाल रही है जिससे लोग अब इलेक्ट्रिक वाहन खरीदे और उसी का इस्तेमाल कर सके। लेकिन अभी पूरी तरह ई- वाहन सफल नज़र नहीं आ रहे है जिसके बहुत से कारण है।

बता दें कि Ola ने पिछले साल अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर निकाले थे जिसकी बहुत सराहना भी कि गयी थी । ओला ने अपने स्कूटर 85 हज़ार to 1.6 लाख तक कि रेंज में निकाले थे। लेकिन दूसरी तरफ लोगों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ा जैसे बैटरी का 40% चार्ज सिर्फ 5 मिनट में 0% तक होना, बंद और गतिहीन वाहन को सड़क के पार 40 डिग्री सेल्सियस में घसीटना आदि।

गुवाहाटी एक्सीडेंट

गुवाहाटी से एक घटना सामने आयी जहां बलवंत सिंह ने ओला एस1 प्रो इलेक्ट्रिक स्कूटर पिछले साल सितम्बर में 1.6 लाख कि बुक कराई जिसकी डिलीवरी उन्हें इस साल के मार्च महीने में मिली। 26 मार्च 2022 को बलवंत सिंह के बेटे रीतं सिंह अपनी नए ओला स्कूटर को लेकर बाहर गए जहां उन्हें रस्ते में एक ब्रेकर मिला और उन्होंने जैसे ही ब्रेक लगाई उनकी स्पीड कम होने के वजाए ज्यादा बढ़ गयी और वह चोटिल हो गए। पीड़ित के बाएं हाथ में फ्रैक्चर और दाहिने हाथ में 16 टांके लगे। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा और यह सुनिश्चित करने के लिए सर्जरी करानी पड़ी कि दुर्घटना लंबी अवधि की समस्याओं का कारण न बने ।

इसके बाद ओला द्वारा स्कूटर को 11 अप्रैल को वहा से रिपेयर के लिए लेजाया गया और ओला कि जानकारी के मुताबिक उसमे कोई भी दिक्कत नज़र नहीं आयी बल्कि कंपनी ने उल्टा रीतम सिंह पर Overspeeding का इलज़ाम लगा दिया और उनकी गलती ठहराई।

हालाँकि, पीड़ित के परिवार का कहना था कि उन्हें जो सारा मेडिकल का खर्चा है वह ओला कंपनी से चाहिए जिसके लिए उन्होंने कंपनी को detailed questionnaire भी भेजी है जिसका कोई भी जवाब अभी तक सामने नहीं आया है । पीड़ित के पिता का कहना है कि हेलमेट कि वजह से उनके बेटे को चोट नहीं आयी वरना उनका बेटा और भी चोटिल हो सकता था।

Hair Crown
ये भी पढ़े: E- Cycle सब्सिडी को सरकार ने दी मंजू़री, मिलेगी हज़ारों की सब्सिडी

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button