ऑटोट्रेवलदिल्ली एनसीआर

इस एक्सप्रेसवे पर दोपहिया वाहन लेकर गए तो कटेगा मोटा चालान

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे के शुरू होने के बाद से दिल्ली और मेरठ के बीच की दूरी एक घंटे से भी कम है।इस एक्सप्रेसवे का इस्तेमाल करना संभव नहीं है।

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे के शुरू होने के बाद से दिल्ली और मेरठ के बीच की दूरी एक घंटे से भी कम की रह गई है। लेकिन सभी लोगों के लिए इस एक्सप्रेसवे का इस्तेमाल करना संभव नहीं है।

दरअसल, एक्सप्रेसवे पर दोपहिया वाहनों को चलने की अनुमति नहीं है। जानकारी के अनुसार, एक्सप्रेसवे पर बढ़ रहे हादसों को ध्यान में रखते हुए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) ने गाजियाबाद और मेरठ की ट्रैफिक पुलिस के साथ मिलकर ये फैसला लिया है।

अब ऐसें में अगर कोई भी दो पहियां वाहन इस दिल्ली- मेरठ एक्सप्रेसवे पर चलता नज़र आया तो ट्रैफिक पुलिस उनका 20 हज़ार रूपये का चालान काटेगी। बता दे कि स्मार्ट इंटेलीजेंट सिस्टम के जरिए चालान काटे जाएंगे। 

बहराल, दिल्ली- मेरठ एक्सप्रेसवे पर रॉन्ग साइड आने वाले दोपहिया और तिपहिया वाहनों के कारण कई दुर्घटनाएं सामने आ रही है। इन दुर्घटनाओं के चलते ही NHAI ने ये कदम उठाया है।

जिसकी वजह से अब इस महीने से लोगों के चालान कटने शुरू होने की संभावना है। फिलहाल, प्रशासन द्वारा तोल बूथ पर स्मार्ट इंटेलीजेंट सिस्टम लगाया गया है।

ऐसे में अगर कोई भी प्रतिबंधित वाहन वाहन टोल से गुज़रेगा तो ये सिस्टम उसके वाहन की सभी जानकारी को ट्रैफिक पुलिस के साथ साझा कर देगा।

गौरतलब है कि पहले सिर्फ ओवरस्पीडिंग वाले वाहनो की लिस्ट ट्रैफिक पुलिस के पास भेजी जाती थी। लेकिन अब प्रतिबंधित वाहनों की लिस्ट भी तैयार होकर ट्रैफिक पुलिस के साथ शेयर की जाएगी।  

Madhavgarh Farms

ये भी पढ़े: जुलाई महीने में GST से केंद्र सरकार ने की रिकॉर्ड तोड़ कमाई

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button