ट्रेंडिंगदेशहेल्थ

क्या नहीं किया सिद्धू मूसेवाला की मां ने IVF नियमों का पालन? स्वास्थ्य मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

अब इसको लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पंजाब सरकार से ही चरण कौर के IVF ट्रीटमेंट पर ही विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

हाल ही में खबर सामने आयी है जहां वंगत पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के घर अब फिर से किलकारी गूंजी है जहां सिद्धू की मां चरण कौर और पिता बलकौर सिंह के ही घर दूसरे बच्चे का जन्म हुआ है और इसकी जानकारी खुद बलकौर सिंह द्वारा सबको दी गयी थी। बताया जा रहा है की चरण कौर द्वारा 58 साल की उम्र में इस बच्चे को इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन (IVF) तकनीक से ही जन्म दिया है और अब इसको लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पंजाब सरकार से ही चरण कौर के IVF ट्रीटमेंट पर ही विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

दरअसल, भारत में IVF को भी लेकर अब बनाए गए नियमानुसार आप केवल 21 से 50 साल के बीच ही महिला ही तकनीक की मदद से अब बच्चे को आगे जन्म दे सकती है। लेकिन दिवंगत सिंगर की मां चरण कौर की उम्र 58 साल की हैं और मंत्रालय द्वारा कौर की उम्र का भी जिक्र करते हुए बताया है कि कानून के चलते सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी (ART) सेवाओं से भी गुजरने वाली महिला के लिए आयु सीमा सिर्फ 21 से 50 वर्ष के बीच रखी हुई है।

वही केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा 14 मार्च को ही इनको पत्र लिखकर पंजाब सरकार से चरण कौर की पूरी IVF की रिपोर्ट मांगते हुए एक मीडिया रिपोर्ट का ही इसमें हवाला दिया गया है जिसमे बताया गया है कि कौर द्वारा 58 साल की उम्र में IVF उपचार कराया गया था। बता दें की सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2021 की ही धारा 21 (G) (i) के चलते, IRT सेवाओं के चलते जाने वाली महिला के लिए निर्धारित आयु सीमा इसमें 21-50 वर्ष के बीच है। इसलिए, आपसे अनुरोध ये ही है कि आप इस मामले को देखें और IRT (विनियमन) अधिनियम, 2021 के चलते इस मामले में की गई कार्रवाई की भी एक रिपोर्ट इस विभाग को सीधा सौंपें।

ये भी पढ़े: मेट्रो यात्रियों के लिए खुशखबरी! अब लाइन चेंज करने के लिए नहीं चलना पड़ेगा अधिक

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Back to top button