ट्रेंडिंगविश्व

पाकिस्तान के 60 बच्चों के अब्बा जान नहीं लगा रहे फुल स्टॉप, एक और बेगम की तलाश जारी

खुद को पेशे से डॉक्टर बताने वाले पाकिस्तान नागरिक है जिसका सबूत है कि अभी तक उन्होंने 60 बच्चों को जन्म दे दिया है

विश्व में सभी देश एक ही चीज़ पर ज्यादा काम कर रहे है और वो है देश कि जनसंख्या को नियंत्रण करना। लेकिन कई ऐसे मुल्क हैं जहां जनसंख्या नियंत्रण का नामो-निशां दूर-दूर तक नहीं दिख रहा है और इन देशों की लिस्ट में पाकिस्तान टॉप पर पाया जाता है और पाकिस्तान की यह हकीकत कई रिपोर्ट्स में सामने आती रहती है।

बता दें कि ऐसा ही एक मामला पाकिस्तान से फिर से सामने आया है बेहद हैरान करने वाला है। ऐसे में खुद को पेशे से डॉक्टर बताने वाले पाकिस्तान नागरिक को बच्चे पैदा करने का बहुत शौक है जिसका सबूत है कि अभी तक उन्होंने 60 बच्चों को जन्म दे दिया है। जानिए पूरी खबर

इसके बारे ने और जाने तो ये शख्स पाकिस्तान के बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में रहने वाले सरदार हाजी जान मोहम्मद है और जहां उन्होंने रविवार को दावा किया कि वे अब 60 बच्चों के पिता बन चुके हैं। इसमें से रिपोर्ट द्वारा बताया गया है कि हाजी के पांच बच्चों का निधन हो चुका है और उनके 55 बच्चे स्वस्थ हैं और जिंदा हैं।

हैरान करने वाली बात यह है कि हाजी अभी रुकने के लिए तैयार नहीं है बल्कि वह और बच्चे पैदा करने की कामना रखते हैं। बात यही खत्म नहीं होती क्योकि उनको बच्चे और करने है तो उसकी तादाद बढ़ाने के लिए वे चौथी शादी करने की प्लानिंग में भी लगे हुए हैं। इनेक बारे में बात करे तो इनकी उम्र 50 साल है और ये हाजी जान क्वेटा के ईस्टर्न बाईपास पर अपने बड़े परिवार के साथ रहते हैं। वे खुद को डॉक्टर बताते हैं और उनका एक क्लीनिक भी है जिससे वह अपने बड़े से परिवार का खर्च चलते है।

हाजी जान ने अपने बेटे यानी 60वीं संतान का नाम खुशहाल खान रखा है और उन्होंने बताया कि खुशहाल के पैदा होने से पहले वे अपनी बेगम को उमरा पर ले गए थे, इसलिए वे अपने नवजात बेटे को हाजी खुशहाल खान भी पुकारते हैं। हाजी जान को अपने सभी बच्चों के नाम भी याद हैं। उनकी इस इच्छा में उनकी पत्नियां भी उनके साथ है।

Accherishteyये भी पढ़े: गाड़ियों के लिए फिर से बदला गया है नंबर प्लेट सिस्टम, लगाई जाएगी Toll Plate

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button