विश्व

सियोल की हैलोवीन पार्टी का जश्न बना मातम, इतनें लोगों की हुई मौत

सियोल से एक बहुत बड़ा हादसा सामने आया है। शनिवार 29 अक्टूर 2022 को हैलोवीन फेस्टिवल मनाने पहुंचे लोगों के बीच अचानक भगदड़ मच गई।

दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल से एक बहुत बड़ा हादसा सामने आया है। दरअसल, शनिवार 29 अक्टूर 2022 को हैलोवीन फेस्टिवल मनाने पहुंचे लोगों के बीच अचानक भगदड़ मच गई।

जिसके चलते जश्न मातम और चीखों में बदल गया। लोग एक दूसरे को रौंदकर भागने लगे। वहीं जो लोग नहीं भाग पाए उनकी सांसे उखड़ गई और इस हादसें में 151 लोगों की मौत हो गई जिसमें 19 विदेशी नागरिक भी शामिल है।

जबकि सैकड़ों घायलों का इलाज अभी जारी है। आपकों बता दे कि शनिवार की शाम सियोल के इटावन इलाक के प्रसिद्ध नाइट स्पॉट पर लोग हेलोवीन मनाने के लिए जुटे थे।

वहीं कोविड के बाद से ये पहला हैलोवीन फेस्टिवल था, जिसकी वजह से भीड़ भी खूब उमड़ी। लेकिन इसी बीच पतली सी गली में इतने लोग जमा हो गए कि रास्ता ही ब्लॉक हो गया।

दोनों तरफ से लोग इधर उधर भाग रहे थे। तभी अचानक रात में 10 बजकर 20 मिनट पर भगदड़ मच गई। वो नज़ारा ऐसा था कि इंसान एक दूसरे को कुचलते हुए आगे भाग रहे बढ़ रहे थे।

वो हजारों की भीड़ सैकड़ों लोगों को रोंद रही थी। महिलाएं और बच्चों के लिए खुद को संभालना भारी हो रहा था। इतनी ज्यादा चाख पुकार से सियोल कांप गया था।

जानकारी के अनुसार, रेस्क्यू टीम, फायर फाइटर्स, लोकल पुलिस और एंबुलेंस के साथ मेडिकल स्टाफ जब तक मौके पर पहुंचते तब तक 151 से ज्यादा लोगों की सांसे उखड़ चुकी थी।

वहीं जब तक ये खबर दक्षिण कोरिया सरकार तक पहुंची हड़कंप मच गया था। राष्ट्रपति यून सुक-योल ने बड़े पैमाने पर डिजास्टर मैनेजमेंट को रेस्कयू में लगा दिया था।

इसी के साथ यून सुक योल ने राष्ट्रिय शोक की घोषणा भी की है। मिली जानकारी के मुताबिक अब भी मौत का आकड़ा बड़ सकता है। पश्चिमी देशों में हैलोविन फेस्टिवल धूमधाम से मनाया जाता है।

इसे लेकर मान्यता हैं कि आयोजन के जरिये पूर्वजों की आत्मा की शांति की प्रार्थना होती है। हैलोविन फेस्टिवल के दिन लोग डरवाना मेकअप करते हैं और डरवाने आउटफिट्स पहनकर आते हैं।

Vishalgarh Farms

ये भी पढ़े: मंदिर मार्ग इलाके में रुपयों के लेन-देन को लेकर मजदूर की पीट-पीटकर हत्या

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button