देशविश्व

भारतीयों के लिए खत्म की थाईलैंड ने वीजा की जरूरत

प्रधानमंत्री स्रेत्‍था थाविसिन ने 31 अक्टूबर को बताया था कि इस साल 10 नवंबर से 10 मई तक भारतीय पर्यटक बिना वीजा के कर सकेंगे थाइलैंड में प्रवेश

थाईलैंड ने पर्यटन क्षेत्र को मजबूत करने के लिए भारतीय पर्यटकों के लिए वीजा की जरूरत को समाप्त करने का निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री स्रेत्‍था थाविसिन ने बताया कि 10 नवंबर से 10 मई तक भारतीय पर्यटक बिना वीजा के थाइलैंड में प्रवेश कर सकेंगे। यह उन्हें 30 दिनों के लिए वहां रहने का अधिकार देगा।

 

थाई टूरिज्म के अनुसार, भारतीय 10 नवंबर 2023 से 10 मई 2024 तक बिना वीजा के थाईलैंड जा सकते हैं, जो पर्यटन को बढ़ावा देने का एक कदम है। इस योजना के अनुसार, थाइलैंड ने भारत और ताइवान के यात्रीयों के लिए वीजा आवश्यकताओं को अस्थायी रूप से हटा दिया है। सितंबर में चीन के पर्यटकों के लिए भी वीजा की आवश्यकता को समाप्त कर दिया गया था।

 

थाईलैंड का प्राचीन भारतीय नाम श्यामदेश है, और यह दक्षिण पूर्वी एशिया में स्थित है। यहां की ख़ूबसूरत बीचें दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करती हैं। इसके बारे में और भी कहा जा सकता है कि बैंकॉक शॉपिंग के लिए भी मशहूर है, जहां बेहतरीन मार्केट्स हैं। थाईलैंड पर्यटन के लिहाज से भारत का चौथा सबसे बड़ा स्रोत रहा है, और 12 लाख भारतीयों ने इस देश की यात्रा की है। यहां का टूरिज़म बाजार भी भारतीय पर्यटकों के कारण बढ़ रहा है।

 

थाईलैंड सरकार ने ऐसे समय में इस तरह का ऑफर देने के साथ-साथ, ई-वीज़ा की आवेदन प्रक्रिया को भी सरल बना दिया है। ई-वीज़ा आवेदकों को अब व्यक्तिगत रूप से दस्तावेज़ जमा करने की आवश्यकता नहीं है, और उन्हें स्वीकृति होने पर एक पुष्टिकरण ई-मेल भेजा जाएगा। यात्रा के समय इस पुष्टिकरण को प्रिंट करना होगा और इसे एयरलाइंस और थाई आव्रजन अधिकारियों को प्रस्तुत करना होगा। इस तरह से थाईलैंड सरकार ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाया है, और यह भारतीय पर्यटकों के लिए एक बड़ा अवसर है।

Accherishtey

Related Articles

Back to top button