देशविश्व

भारत और केन्या के बीच व्यापार और निवेश में निरंतर हो रही है प्रगति: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने मीडिया से कहा आर्थिक सहयोग की पूरी क्षमता को महसूस करने के लिए हम नए अवसरों की तलाश रखेंगे जारी

केन्या के राष्ट्रपति रुतो भारत में तीन दिनों के दौरे पर हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने इस मौके पर उनके साथ द्विपक्षीय मुलाकात की। इस मुलाकात से न केवल दोनों देशों के बीच संबंधों में बल आएगा, बल्कि पूरे अफ्रीका महाद्वीप के साथ भारत के गठजोड़ को भी नया मायना मिलेगा।

 

भारत और केन्या के बीच व्यापार और निवेश में तेजी से प्रगति हो रही है। दोनों देशों ने समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं, जिससे आर्थिक सहयोग और विभिन्न क्षेत्रों में साझेदारी में वृद्धि होगी।

 

मोदी ने उज्ज्वल भविष्य के लिए नई अवसरों की तलाश जारी रखने की बात कही। उन्होंने भारतीय विदेश नीति में अफ्रीका को हमेशा उच्च प्राथमिकता दी है और इस संबंध में अफ्रीका के साथ मिशन मोड में सहयोग बढ़ाया है।

 

दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग के साथ-साथ साझेदारी में क्लीन एनर्जी को भी महत्व दिया गया है। भारत ने कृषि क्षेत्र के आधुनिकीकरण के लिए केन्या को ढाई सौ मिलियन डॉलर की लाइन ऑफ क्रेडिट प्रदान करने का निर्णय लिया है।

 

समुद्री सुरक्षा, समुद्री डकैती, और नशीले पदार्थों की तस्करी जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर दोनों देशों के बीच साझा प्राथमिकताएं हैं। इस दिशा में दोनों देश समुद्री सहयोग पर संयुक्त दृष्टि वक्तव्य को जारी कर रहे हैं।

 

आतंकवाद के मामले में भी दोनों देशों ने साझा सहयोग को बढ़ाने का निर्णय लिया है। इस संबंध में वैश्विक जैव ईंधन गठबंधन और अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन में केन्या का सहयोग भी है।

 

दोनों देशों के रक्षा उद्योगों के बीच सहयोग को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। इस दौरान हमारी साझेदारी का फ़लस्वरूप भारत और केन्या का सहयोग इंडो-पेसिफिक क्षेत्र में भी बढ़ावा देगा।

Accherishtey

Related Articles

Back to top button